कलश यात्रा के साथ प्रारम्भ हुआ श्री श्री 1008 श्री विष्णु महायज्ञ

महेशपुर, १७ बैशाख । नवलपरासी के पाल्हीनन्दन गांवपालिका वार्ड नंबर एक बड़की सुनरी में भव्य कलश यात्रा के साथ श्री श्री 1008 श्री विष्णु महायज्ञ का शुभारम्भ किया गया। कलश यात्रा में हांथी, घोड़ा, बैंडबाजा व झांकियां श्रद्धालुओं को अपनी तरफ खींच रहा था। इस महायज्ञ का उद्घाटन पाल्ही नन्दन गांवपालिका अध्यक्ष दीपक गुप्ता(बैजू) ने फीता काटकर किया। उन्होंने ने बताया कि यज्ञ वातावरण व समाज के शुद्धिकरण का सशक्त माध्यम है।

अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत नवलपरासी पाल्ही नन्दन गांवपालिका वार्ड नम्बर एक बड़की सुनरी में पूरी भव्यता के साथ श्री श्री 1008 श्री विष्णु महायज्ञ का पाल्हीनन्दन गांवपालिका अध्यक्ष दीपक गुप्ता(बैजू) ने फीता काटकर किया।

मंगलवार की सुबह ही क्षेत्र की 351 कुंवारी कन्याओं द्वारा सिर पर कलश ले रमपुरवा, छोटकी सुनरी, महेशपुर, अमानीगंज होकर चमकीपुर के झरही नदी से जल लेकर अपने गंतव्य स्थान पर पंहुची। जंहा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ इस महायज्ञ की शुरुआत की। इस महायज्ञ में श्रद्धालुओं के लिए रामलीला, प्रवचन सहित तमाम धार्मिक अनुष्ठान की व्यवस्था की गई है।

बतौर मुख्यातिथि पाल्ही नन्दन गांवपालिका अध्यक्ष दीपक गुप्ता(बैजू) ने श्रद्धालुओं से कहां कि यज्ञ अनुष्ठान से समाज मे फैली कुरीतियों का अंत सहित वातावरण का सुद्धिकरण होता है। यह एक ऐसा माध्यम है जिससे क्षेत्र में सुख शान्ति का माहौल कायम होता है। इस महायज्ञ के यज्ञाचार्य दीपक द्विवेदी ने कहां कि प्रवचन सुनने मात्र से ही मन की सुद्धि हो जाया करती है।

इस अवसर पर महायज्ञ समिति अध्यक्ष गुड्डू पटेल, गजानन्द पटेल, अवधेश कुर्मी, प्रदीप पटेल, अनिल रजक, सुरेन्द्र पटेल, राजकुमारी कुर्मी, वार्ड अध्यक्ष लल्लन यादव, पूनम प्रजापति, विश्वम्भर निगम, हरि बहादुर सहित सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।

Related articles

संरक्षणमा बेहाल:महाभारतकालीन ताल

परासी, २० भदौ । बर्षाैंदेखि ओझेलमा रहेको जिल्लाको ऐतिहासिक नन्दन तालमा राष्ट्रपति तराई मधेश चुरे संरक्षण समितिले संरक्षणका लागि चासो देखाएको छ । पाल्हीनन्दन गाउँपालिका र रामग्राम नगरपालिका क्षेत्रमा फैलिएको करिब ४५ विघा क्षेत्रफलको उतm ताल संरक्षण अभावमा अतिक्रमित हँुदै खेतमा परिणत हुँदै गइरहेको अवस्थामा अहिले उतm समितिले चासो देखाउँदै सोमबार तालको स्थलगत अवलोकन गरेको हो । समितिले गर्दै […]

विपन्न वर्गका हस्तकला सामग्री शाश्वतधाममा राख्ने

नवलपुर, २५ असाेज । विपन्नवर्गका हस्तकला उत्पादक कालीगढहरुको उत्पादन सामग्री नवलपुरको शास्वतधामको संस्कृति सम्पदा भण्डारमा आवश्यक्ता अनुसार बिक्री स्टलमा राख्ने सहमति भएको छ । विपन्नवर्गका हस्तकला उत्पादक कालीगढहरुको उत्पादनको दिगो विकास र बजारसम्मको पहुँच स्थापना गर्न गरिबी निवारण कोष र चौधरी फाउण्डेसनबीच बिहीबार सम्झौंता भएको हो । कोषको सदस्यहरुले उत्पादन गरेका हस्तकलाका सामग्रीलाई अझ सुदृढ एवम् […]